Headlines
Loading...
नमस्कार !!! 

प्रथम कक्षा के लिए यहाँ शरुआत से " शरुआत " किस तरह से करें इस बारे में चर्चा करते हैं । वैसे तो बच्चे जब पाठशाला में पहली बार कदम रखते हैं तो सब लोग ऐसा मानते हैं कि वे किसी कोरी किताब की तरह ब्लेंक होते हैं । लेकिन यह सच नहीं , क्योंकि बच्चा पाठशाला से पहले घर से, आसपास के माहौल से , सगे संबंधियों के घर से , माँ के साथ बाजार जाते समय और पिछले पांच साल के दौरान वह बहुत कुछ जानकर , बहुत सी चीज़ो का अनुभव पाकर कुछ हद तक अनुभवजन्य ज्ञान लेकर वर्ग खंड में आता है । हालांकि उसके शरुआती दिनों में उसे पाठशाला के साथ जोड़ना सरल नहीं होता । बच्चा पहली बार अपना घर छोड़कर किसी बाहरी वातावरण में प्रवेश करता है । जब इस तरह से अचानक से अलग वातावरण के साथ बच्चा जुड़ता है तो वह कुछ अलग तरह के अनुभव महसूस करता है । वह किस तरह से उसके साथ जुड़ता है इस पर उसके भविष्य के समय मे वह किस तरह से पाठशाला में जुड़ेगा इस पर बहुत बड़ा आधार रहता है । 


जैसे ही बच्चा पाठशाला में आये उसे ' ये कर दे ! उसे इस तरह से लिख दे ! ऐसे मत कर ! ये काम इस तरह से नहीं करना ! जैसे कोई नया तालिमी साल शरू हुआ हो इस तरह का बर्ताव सही नही होता । जिस तरह से पाठशाला में कुछ अनुभवजन्य ज्ञान बच्चे के लिए जरूरी है उसी तरह घर मे भी ' तू अभी तक सीखा नही ? तुने होमवर्क क्यो नही किया ? कब तक खेलेगा ? अब तो स्कूल जा !!! देख तेरा दोस्त कितना होशियार है ? इस तरह की तुलना करना , लगातार उसे पढाई करने के लिए कहना ये सब भी उतना ही गलत हैं । 

कुछ बातें सब को ध्यान में रखनी चाहिए :-

◆  हरेक बच्चा यूनिक होता है , ख़ास होता है । उसकी तुलना किसी से भी नहीं कि जा सकती ।सब का अपना हुन्नर और कमियां होती हैं । तो बच्चों को मदद की जरूरत होती हैं । बाकी तो वे खुद आनन्द और काबिलियत का भंडार है । 

तो चलिए शरुआत करते हैं ' शरुआत ' से !!! 



 
 
Application for children 
01आकार और रंग 

02 खास एप्लिकेशन बच्चों के लिए 

03 आकार पजल 

04 ऑल इन वन एप्लिकेशन

05 एप्लिकेशन बच्चों के लिए 

आप चाहे तो दूसरी एप्लिकेशन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं ।

 



जिनके पास स्मार्टफोन नहीं वे इस पीडीएफ को देख सकते हैं । 














Digital Edu Portal सम्पूर्ण रुप से शैक्षणिक वेबसाइट हैं । यहां आप को पाठशाला से लेकर पीएचडी तक की शिक्षा व विद्या प्रदान करने के हेतु से कार्य किया जा रहा है । यहां आप को शिक्षा से जुड़े सवाल के जवाब ही नहीं बल्कि सम्पूर्ण स्त्रोत , संदर्भ साहित्य भी प्रदान किया जाता है । अनुरोध हैं कि प्रयास अच्छा लगे तो जो ' विद्यार्थी ' सीखना चाहते हैं उन तक हमें पहुंचाए ताकि हमारा प्रयास सफ़ल हो सके ।

0 Comments: